Thu. Aug 22nd, 2019

नॉर्थ सेंट्रल रेलवे में 200 पद खत्म करने की की तैयारी

Railway Board

रेलवे बोर्ड ने वर्क स्टडी के आधार पर पदों की संख्या

 

पीपीपी मोड की ओर तेजी से अग्रसर भारतीय रेलवे नॉर्थ सेंट्रल रेलवे ने 200 से ज्यादा रेल कर्मचारियों के पद खत्म करने  जा रहा है|  इसी तरह नार्थ ईस्टर्न रेलवे ने भी 700 पद खत्म करने की तैयारी है Railway Board

भारतीय रेलवे  सभी 17 जून से 11000 पद समाप्त करने की योजना बना रहा है| कर्मचारियों की कार्यकुशलता पर बनी रिपोर्ट के आधार पर  पदों को घटाएं जाने की तैयारी है|

रेलवे बोर्ड के  एग्जीक्यूटिव जितेंद्र सिंह ने सभी 17  जोन के महाप्रबंधक को उनके यहां वर्क  स्टडी के आधार पर घटाए जाने वाले पदों की संख्या भेज दी है|रेल मंत्रालय द्वारा खर्चों पर लगाम लगाने के लिए सभी जोन से पद समाप्त करने की योजना है|

रेलवे बोर्ड के इस आदेश के खिलाफ रेल कर्मचारी यूनियनों रेलवे बोर्ड चेयरमैन से इस आदेश को वापस लेने की मांग  कर रही  है| नॉर्थ सेंटर रेलवे एंप्लाइज संघ के मंडल सचिव  एके दाधीच कहते हैं, कि बिना वर्क स्टडी किए ही रेलवे बोर्ड ने पदों की समाप्ति का आदेश जारी कर दिया है|

भारतीय रेलवे में पहले ही 200000 से अधिक पद रिक्त हैं| इसमें डेढ़ लाख पद सेफ्टी कैटेगरी के हैं| इन पदों को भरने के बजाएं रेलवे बोर्ड ने 11000 से अधिक पदों की समाप्ति की घोषणा कर दी है| यह रेलवे के परिचालन के लिए सही नहीं है|

उत्तर मध्य रेलवे में 200 से के करीब पद समाप्त करने की तैयारी है| जोन में पहले से ही हजारों पद रिक्त हैं| पद खत्म करने से कार्यकर्ता कर्मचारियों पर काम का बोझ बढ़ेगा| Railway Board

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *