Thu. Aug 22nd, 2019

तीन तलाक से आजादी

तीन तलाक से आजादी

3 Talaq News in Hindi राज्यसभा में भी 84 के मुकाबले 99 मतों से पारित हुआ बिल नई दिल्ली देश की संसद में मंगलवार को इतिहास रच दिया 26 जुलाई को लोकसभा से पारित होने के चौथे दिन ही तीन तलाक से जुड़े मुस्लिम विधि 2019 मंगलवार को राज्यसभा में भी पास हो गया

उच्च सदन में स 4:30 घंटे तक चली चर्चा के बाद हुई वोटिंग में बिल के पक्ष में 99 जबकि विरोध में 84 मत पड़े जदयू टीआरएस अन्नाद्रमुक और बसपा जैसे दलों के वर्क आउट और टीडीपी पीडीपी वाईएसआर व एनसीपी सदनों के सदन से गायब रहने से सरकार ने वैदिक आशानी से पारित करा लिया अब बिल को राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा जिनकी मोहर के बाद तीन तलाक कानून अपराध बन जाएगा

उल्लेखनीय है कि नए सांसदों की सीट आवंटित नहीं होने से राज्यसभा में पर्ची से मतदान कराया गया इस बिल पर सरकार को तीसरी कोशिश में कामयाबी मिली है पहले भी दो बार विविधेयक संसद में पारित कराने की कोशिश की गई थी

इससे पहले कानूनी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बिल पर विपक्ष की आपत्तियों का जवाब देते हुए कहा है कि दहेज विरोधी कानून और बहु विवाह रोकने से जुड़े कानून में भी दोषी हिंदू पुरुष को जेल का प्रावधान है

लिहाजा तीन तलाक के दोषी को सजा गलत नहीं है यह लैंगिक समानता और नारी सम्मान का मामला है तीन तलाक कहकर बेटियों को छोड़ दिया जाता है

इसे सही नहीं ठहराया जा सकता प्रसाद ने कहा 20 से ज्यादा इस्लामिक देश में तीन तलाक पर पाबंदी है ऐसे में भारत में यह लागू नहीं रह सकता इसे वोट बैंक के तराजू पर ना तोला जाए यह नारी न्याय गरिमा व उत्थान का सवाल है बेटियां फाइटर प्लेन उड़ा रही है ऐसे में तलाक पीड़ितों को फुटपाथ पर नहीं छोड़ा जा सकता| 3 talaq news in hindi

  • बिना वारंट गिरफ्तारी दोषी को 3 साल की सजा
  • तीन तलाक अब गैरकानूनी दोषी को 3 साल की सजा 2.
  • तलाक एक विददत पर बिना वारंट गिरफ्तार
  • मजिस्ट्रेट आरोपी को जमानत दे सकता है पर ऐसा तभी संभव है जब पीड़ित महिला का पक्ष सुन लिया जाए
  •  पीड़िता अपने व बच्चों के लिए गुजारा भत्ता मांग सकेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *