Connect with us

पॉलिटिक्स

AAP विधायक की पिटाई का VIDEO VIRAL :नाराज कार्यकर्ताओं ने मारे मुक्के, मंच को छोड़कर भागे AAP के विधायक

Published

on

AAP विधायक की पिटाई

दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक गुलाब सिंह यादव के साथ सोमवार की रात को कार्यकर्ताओं ने जबरदस्त मारपीट की। इसका एक VIDEO बुहत वायरल हो रहा है। जिसमे देखा जा सकता है कि विधायक खुद को मार से बचाने के लिए भाग रहे हैं, जबकि कुछ लोग उनको मारने के लिए उनका पीछा कर रहे हैं।

विधायक के साथ लोगों ने काफ़ी धक्का-मुक्की की है।कॉलर से पकड़कर उनको मुक्के मारे। हालांकि, इस घटना पर AAP का कोई भी बयान नहीं आया है। CM अरविंद केजरीवाल जी ने अभी तक इस मुद्दे को लेकर कोई भी टिप्पणी नहीं की है।

आइए इसे बहुत ही आसान तरीके से समझते है .

घटना कब और कहां हुई?

AAP विधायक गुलाब सिंह यादव सोमवार की रात को करीब 8 बजे श्याम विहार में अपने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रहे थे। उस दौरान यह घटना घटित हुई।

आखिर हुआ क्या था?

बैठक के बीच में एक दम से अचानक हंगामा शुरू हो जाता है। AAP के आक्रोशित कार्यकर्ता अपने ही पार्टी के विधायक के साथ मारपीट शुरू कर देते हैं। उनके कॉलर को पकड़कर धक्का-मुक्की भी करते हैं। जैसे ही यादव जी वहाँ से बाहर निकलने की कोशिश करते हैं, तब ही कार्यकर्ता उनका पीछा करते हुए उन्हें मुक्के मारते हैं। और आखिर में खुद को बचाने के लिए विधायक को वहाँ से भागना पड़ता है।

विवाद कि वजह क्या थी ?

विवाद की वजह का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया। BJP की दिल्ली इकाई ने आरोप लगाया है कि टिकट को बेचने के आरोप में AAP कार्यकर्ताओं ने यादव की पिटाई की है । पार्टी ने कहा की यह कार्यकर्ताओं की प्रतिक्रिया थी, जिसका यादव जी ने कड़ा विरोध किया था।

विधायक ने BJP के आरोपों को खारिज करते हुए उनके सवाल का जबाब देने के लिए  ट्वीट(Tweet) किया की , ‘BJP बौखला गई है। वह टिकट को बेचने के बेबुनियाद मुझ पर आरोप लगा रही है। मैं इस समय छावला थाने में हूं। मैंने BJP के नगरसेवक और इस वार्ड से BJP के उम्मीदवार को हमलावरों को बचाने के लिए थाने में मौजूद देखा है। इससे बड़ा सबूत और क्या हो सकता है। मीडिया यहां मौजूद है, वो BJP से यह जरूर पूछें।’

भाजपा का कहना है की टिकट को बेचने के आरोप में AAP कार्यकर्ताओं ने यादव की पिटाई की है । 

BJP के नेता संबित पात्रा ने भी इसका वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है। उन्होंने इस पर ट्वीट(Tweet) करते हुए कहा की , ‘ईमानदार राजनीति के नाटक में AAP पार्टी का  अद्धभुत नज़ारा। AAP का भ्रष्टाचार इस प्रकार का है कि उनकी पार्टी के सदस्य ही अपने विधायकों को नहीं छोड़ रहे हैं। आगामी MCD चुनावों में भी इसी तरह के परिणाम उनका प्रतीक्षा कर रहे हैं।’

Check This: मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी ने आरोप लगाया है कि मुख्तार अंसारी के साथ बहुत ही अमानवीय व्यवहार किया गया।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

न्यूज़

इस बार कुछ अलग करें: अरविंद केजरीवाल ने की गुजरात के Voters से अपील (Gujarat Elections)

Published

on

By

gujarat election

गुजरात विधानसभा चुनाव (Gujarat Assembly Election) के दूसरे पड़ाव के Vote के लिए गुजरात के Voters की कतारें लगने के बीच, Delhi  के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी(AAP) के प्रमुख नेता अरविंद केजरीवाल ने Voters से “इस बार कुछ अलग करने” को कहा है। आम आदमी पार्टी(AAP) इस बार गुजरात में अपनी जगह बनाने के लिए जी जान से मेहनत कर रही है. आम आदमी पार्टी(AAP) पार्टी ने भाजपा के गढ़ में एक लंभा चौड़ा अभियान शुरू किया. अरविंद केजरीवाल इस चुनाव का नेतृत्व कर रहे हैं.

अरविंद केजरीवाल ने हिंदी में Tweet किया, दूसरे पड़ाव में आज गुजरात में 93 सीटों पर voting हो रही है. सभी Voters से मेरी अपील है कि – यह चुनाव गुजरात की नई उम्मीदों और आकांक्षाओं(aspiration) के लिए है. यह एक बड़ा अवसर है, जो की कई दशकों के बाद आया है. भविष्य को ध्यान में रखते हुए, गुजरात की Progress के लिए Vote करें. इस बार कुछ different और अद्भुत करें.

राज्य के दूसरे पड़ाव के Vote में लगभग 833 Candidate चुनाव लड़ रहे हैं. इसमें मध्य और उत्तर गुजरात की Main सीटें शामिल हैं. आम आदमी पार्टी(AAP) इस बार सभी 93 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. कांग्रेस ने last time अच्छा प्रदर्शन किया था, लेकिन भाजपा(BJP) से सत्ता हासिल करने में असफल रही थी. लेकिन इस बार कांग्रेस 90 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. उसकी सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने दो सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं

Read This: Sidhu Moose Wala वाला मर्डर Mastermind गोल्डी बराड़ अब अमेरिका में Custody में लिया गया।

Continue Reading

न्यूज़

मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी ने आरोप लगाया है कि मुख्तार अंसारी के साथ बहुत ही अमानवीय व्यवहार किया गया।

Published

on

मुख्तार अंसारी

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, मुख्तार अंसारी विधान सभा में अपनी सदस्यता समाप्त कर सकते हैं। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि अंसारी की विधानसभा सदस्यता के बारे में कानूनी राय ली जाएगी। कई दिनों तक लगातार सदन की कार्यवाही में शामिल होने पर भी सदस्यता रद्द करने का नियम है।

अमानवीय व्यवहार के कारण मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ गई। अंसारी को आधी बेहोशी की हालत में बांदा जेल लाया गया था। उनका मधुमेह और रक्तचाप बड़ा हुआ था। जेल प्रशासन जेल में डॉक्टर को आने की मंजूरी नहीं दे रहा है

मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी ने आरोप लगाया है कि मुख्तार अंसारी का रोपर जेल से बंदा लाने के दौरान  उनके साथ बहुत ही अमानवीय व्यवहार किया गया। उन्होंने कहा कि 15 घंटे की यात्रा के दौरान, मुख्तार अंसारी को तो पानी दिया गया और ही खाना।

जेल के प्रभारी जेलर प्रमोद तिवारी ने कहा, “मुख़्तार अंसारी को लेकर जेल में सुरक्षा व्यवस्था पूरी कर ली गई है। जेल के बाहर और अंदर सुरक्षाकर्मी तैनात  हैं। बैरकों में रोशनी, पीने के पानी की व्यवस्था और साफसफाई  है। बैरक में अन्य कैदियों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा  है, और तीन सुरक्षाकर्मी भी बैरक के अंदर तैनात हैं।

Mukhtar Ansari, the gangster-turned-politician, brought back to Banda jail  in UP from Punjab prison | Uttar Pradesh News | Zee News

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुख्तार को बांदा जेल पहुंचते ही व्हीलचेयर मैं बैठा दिया गया , लेकिन अंसारी ने उन्हें देखा तक नहीं और बैग उठाकर सीधे अंदर चले गए। अंसारी की मेडिकल रिपोर्ट में भी किसी गंभीर बीमारी का जिक्र नहीं है।

राज्य की सभी जेलों में सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। मुख्तार अंसारी को जेल के नियमो  के अनुसार रहना होगा। उन्हें कानून के मुताबिक, ट्रायल पर जाना होगा।

मुख्तार को बांदा जेल में स्थानांतरित किए जाने के बाद, उसके गुर्गे बांदा में अपना ठिकाना बना सकते हैं, इसलिए पुलिस प्रशासन ने सख्त निर्देश दिए हैं कि किसी को भी पुलिस सत्यापन के बिना काम पर नहीं रखा जाना चाहिए। इसके साथ ही होटल में ठहरने वालों की सूचना पुलिस के साथ साझा की जानी चाहिए।

पुलिस और खुफिया विभाग एक सप्ताह के भीतर या किसी भी मामले में जेल से जमानत पर रिहा किए गए बंदियों के बारे में जानकारी एकत्र करता है। सुबह करीब 10 बजे मुख्तार अंसारी कोविद का टेस्ट होगा। मुख्तार अंसारी को बांदा जेल की बैरक नंबर 16 में अलगथलग रखा गया है और किसी को भी उनसे मिलने की इजाजत नहीं है। सीसीटीवी बैरकों की निगरानी कर रहा है।

पहले तो मुख्तार को सामान्य बैरक में रखा गया, लेकिन बाद में उन्हें जेल के अंदर बैरक नंबर 15 में शिफ्ट कर दिया गया। फिर अचानक, उसे बैरक नंबर -16 में स्थानांतरित कर दिया जाता है। 26 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने अंसारी को यूपी जेल में स्थानांतरित करने का आदेश दिया। सीओ सदर सत्य प्रकाश शर्मा ने अंसारी को यूपी लाने वाली पुलिस टीम का नेतृत्व करते हुए कहा, ‘हमें अंसारी को यहां लाने का काम सौंपा गया था। उन्हें देर रात यहां लाया गया है।

जब मुख्तार अंसारी को पंजाब से यूपी लाया जा रहा था, उस पर हमला हुआ था। इसलिए, सभी जिलों के मार्ग को अलर्ट पर रखा गया था। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि सभी पुलिसकर्मी बुलेटप्रूफ जैकेट पहने हुए थे।

मुख्तार अंसारी को लेकर यूपी पुलिस की टीम दोपहर 2.07 बजे रोपड़ से रवाना हुई थी। काफिला पंजाब के रास्ते शाम 4 बजे हरियाणा के करनाल पहुंचा। इसके बाद पुलिस काफिला नोएडा, मथुरा, आगरा और कानपुर होते हुए 4.34 बजे बांदा जेल पहुंचा।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2022. All Rights Reserved Fresh Samachar